ट्रांसवाग्नालाईन अल्ट्रासाउंड

यह एक प्रणाली है जो मनुष्य के शरीर के अंदरूनी अंगों का नक्शा बना कर सामने लाती है | इससे देखकर ही चिकत्सक आपका उपचार करता है | ट्रांसवाग्नालाईन अल्ट्रासाउंड एक अगली पीढ़ी की नए और जायदा सटीक तकनीक है | यह धुनि उपयोग से शरीर के अंदुरनी अंगों का नक्शा बनती है |

ट्रांसवाग्नालाईन अल्ट्रासाउंड में बहुत जायदा उच्च तीव्रता वाली धुनु तरंगों को आपके शरीर के आर-पार करता है और एक छवि बनता है | इसमें चिकत्सक देख सकता है की आपके शरीर के अंदर किस हद तक विकार है और उसे किस तरह ठीक करना है | इसे करने से पहले चिकत्सक आपको कम से कम ६ गिलास पानी पीने के लिए कहेगा और आपको उल्टा लिटा कर आपकी पीठ को आंशिक रूप से खली किया जायेगा और इसके बाद शरीर के अंदर के नादों का बिस्तृत चित्र प्रदान किया जायेगा|

अल्ट्रासॉउन्ड के दूसरे चकर में अल्ट्रसाउंड रोड को कवर करके महिला की गर्भशय के अंदर डाला जायेगा और अंदर के सभी प्रजनन अण्डों का विस्तृत चित्र बना लिया जायेगा |

ट्रांसड्यूसर धीरे धीरे योनि के अंदर ले जाया जाता है ता की चिकत्सक सभी अंगों और वीयकरों को अच्छी तरह से देख सकता है |

आवशकता कब तक है ?

जायदा जटिल मुद्दों में या अस्पस्टीकृत बाँझपन के मुद्द्दे में ट्रांसवाग्नालाईन अल्ट्रासाउंड एक जरुरी कदम है | कुछ मुख्या मुद्दे –

पेडू में दर्द
अस्थानिक गर्भावस्था
आईयूडी का प्लेसमेंट
अस्पष्टीकृत बांझपन
अस्पष्टीकृत कारन योनि से खून
पेट या पैल्विक परीक्षा
फाइब्रॉएड के लिए जांच
गर्भावस्था के मामले में

यह दूसरी अल्ट्रा साउंड से इसी बात में अलग है की सामान्य अल्ट्रासॉउन्ड के लिए शरीर में बाहर से चित्र बनया जाता है , जब की इसमें रॉड शरीर में अंदर डाली जाती है |

ट्रांस्वाविनाल अल्ट्रासाउंड के लिए तैयारी -

भारत में अगर आप ट्रांस्वाविनाल अल्ट्रासाउंड के लिए नए हो तो आपको काफी तयारी करनी पड़ेगी, अपने मूत्राशय को भरना पड़ेगा अदि | यदि अपने पहले कभी ट्रांस्वाविनाल अल्ट्रासाउंड कारवाही है तो आप भली भांति जानते होंगें |
परजानप्रणाली में असमानताएं पता करने का यही तरीका है , जो सबसे सटीक है |

सफल आईवीएफ उपचार

शिखर की आईवीएफतकनीकें

शिक्षित एवं पेशेवरकर्मचारी

Call Now For Consultation +91-92449-00001

Call Now For Consultationivf@evahospital.in

(C) Copyright 2017 - EVA Hospitals All rights reserved.