पुरुष बाँझपन - कारण और उपचार विक्लप

पुरषो में प्रजनन क्षमता उनका समाज के सामने उनका महत्व बढ़ाती है और बच्चों को इस दुनिआ में लाने में उनका योगदान मातर एक गिलास पानी लाने जितना है , लेकिन दूसरों के लिए यह तूफान की तरह होता है | पुरुष बांझपन एक यौन अवस्था है , जहाँ पर एक मरद एक उपजाऊ और लायक महिला को गर्भधारण करवाने में असमर्थ होता है | महिलों के विपरीत , जो बहुत से बिभिन करने से महिला बाँझपन की स्थिति में आती हैं , पुरषों में बाँझपन सिर्फ शकुराणुओं की गिनती और उनकी गुणवत्ता कर कारण होता है |

किसी भी वयक्ति के लिए महिला को गर्भ धारण करवाना मुश्किल होता है जब वह कम शक्राणु पैदा करता है और उन्हकी गुणवत्ता भी खराब होती है |

पुरुष बांझपंन के लक्षण -

कई लोगों का मन्ना है की वह जब संखलन करते है तो वह महिला को गर्भ धारण करवाने के लिए बहुत है , लेकिन असली तथ्य ऐसे नहीं हैं | ६ महीवो में किसी महिला को गर्भधारण करवाने में असमर्था , यह सिद्ध करती है की आप बाँझ हैं |

इसके अलावा, केवल चिकित्सा परीक्षण आपको सच्चाई जानने में मदद कर सकते हैं।

पुरुष बांझपन के कारण -

पुरुष बाँझपन को दो क्षेत्रों में बांटा जा सकता है –

१ . शुक्राणु उत्पादन असमर्था और गलतियों की वजह से बांझपन –

– संक्रमण
– जेनेटिक या पिता पुर्खी कारण
– अस्पष्टीकृत कारन
– पहले से चल रहा कोई इलाज
– किसी दवाई का गलत प्रभाव
– वाव्याम की कमी और खाने की गलत आदतें

२. शकरायणों के परिवहन के रूकावट –
परिवहन के मुद्दों में यह शामिल है :
– पुरुष नसबंदी
– पुरुष ग्रंथि के मुद्दे
– संक्रमण

पुरुष बाँझपन के लिए दूसरे संभावित कारन भी है ”

हार्मोन्स के मुद्दे –

– जन्मजात एलएच की कमी
– किसी भी प्रकार का टयूमर

शक्राणुओं की उत्पादन और संख्लन समस्यां –

– शक्राणु शंखलान होने ने विफलता
– रीड की हड्डी पर चोट
– शिशन की नसों में विकार
– कोई बड़ी शल्य-शिक्त्सा
– शिशन के तनाव के विकार
– शीघ्र पतन
– सम्भोग की कमी

बाँझपन के इन दोनों प्रकारों को किसी विशेषज्ञ के द्वारा ही ठीक किया जा सकता है | प्रजनन विशेषज्ञों का कहना है की २० प्रतिशत मर्दो में शकलरांउ का उत्पादन और प्रचलन तो बिलकुल सही ढंग से होता है , लेकिन उनकी गुणवत्ता और गिनती महिला को गर्भधारण करवाने के लिए काफी नहीं होती |

भारत में पुरुष बाँझपन का इलाज उसके हालत के आधार पर निर्भर करता है की उसे किस कारण से बाँझपन है | इसके संभावित उपचार में शामिल है |

टेस्ट करने से पहले के उपचार -

इसमें दवाओं के माध्यम से शक्राणु पुनर्प्राप्ति , वहारिक बातचीत , संखलन में मदद करने वाली दवायां अदि से किया जाता है |

हार्मोन्स का इलाज -

परिजनं माहिरों के द्वारा उत्तेजक हार्मोन को संजोयक के रूप में इस्तेमाल करते है और मानवीय हार्मोन्स का पुरेश में संचालन ठीक करते है | हार्मोन्स की आपूर्ति और संचलन को ठीक किया जाता है |
हार्मोस की वजह से जो समस्या आती है उसका समाधान भी हार्मोन्स से ही होता है | जैसे की इस मुद्दे में शरीर में कुछ ऐसे हार्मोन्स भेजे जानते है जो की इस गड़बड़ी को ठीक करते हैं | शकरुणों की गति शीलता को सुधरने के लिए भी हार्मोस उपचार बहुत लाभदयक है |

बाँझ पुरुष के साथी की प्रजनन क्षमता की जांच -

गर्भधारण करवाने के लिए साथी की प्रजनन क्षमता का भी पता होना चाहिए |उपलब्ध करवाए गए उपचार के आधार पर महिला की गर्भधारम की सुवधा के लिए उसकी प्रजनन क्षमता का मूल्यांकन भी जरूरी है |

अगर पुरुष बाँझपन का इलाज विफल हो जाता है तो आईवीऍफ़ एक विकलप हो सकता है | भरता में पुरुष बाँझपन के उपचार की लगता बहुत बढ़ चुकी है और इसी वजह से आईवीएफ ळामदायक रहता है |

सफल आईवीएफ उपचार

शिखर की आईवीएफतकनीकें

शिक्षित एवं पेशेवरकर्मचारी

(C) Copyright 2017 - EVA Hospitals All rights reserved.