आईवीएफ की सफलता दर कैसे मापी जाये ?

हर मरीज की शरीरक क्षमताएं अगल होती हैं , इसलिए हर मरीज के सम्बन्ध में यह बताना कठिन होता है की आईवीएफ उपचार कहाँ तक सफल होगा | सफलता को मापने का सबसे अच्छा तरीका यह है की आप किसी अच्छे इस्त्री रोग विशेषज्ञ से संपर्क करें | ईवा अस्पताल में हर मरीज को तरफ पूरा और विशेष ध्यान दिया जाता है |

आईवीएफ की सफलता मापने का तरीका -

तकनीकी तौर पर आईवीएफ उपचार की सफलता मापने का कोई तरीका नहीं है | लेकिन जब कोई मनुष्य आईवीएफ उपचार लेता है तो उसके मन में यह सवाल जरूर आता है की उपचार की सफलता दर क्या होगी |इसी लिए भ्रूण स्थानांतरण की सफलता दर और कई अन्य कारकों से तुलना के बाद अंदाजा लगाया जाता है |

– चिकत्सा के दवारा किये गए गर्भधारण में सफलता दर मापी जाती है , लेकिन चिकत्सा के दवारा धारण किये हर गर्भधारम में भ्रूण स्थानांतरण की जरूरत नहीं होती , बहुत से गर्भधारण केवल अंडों के स्तनांतरण से किये जाते हैं |

– आईवीएफ की सफलत्र दर निशिरत करने में आयु विशेष कारक है | जब भी सफलता दर आयु के साथ मापी जाती है तो सही नतीजे आने के मामले बहुत होते है |

– सफलता दर मापना जरूरी कारक है , इसी लिए पुराने आईवीएफ के सफल मामलों और आयु के हिसाब से मापी जाती है |

– आईवीएफ को सफल बनाने के लिए एक से जायदा भ्रूण भी सतानान्तरित किये जाते है ता की अगर एलक भ्रूण खराब हो जाये तो दूसरा काम कर सके और आईवीएफ विफल ना हो | एक साथ कई भ्रूण सतानान्तरित करने से जुड़वाँ, समय से पहले जनम और गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है |

– आईवीएफ में उच्च सफलता प्राप्त करने के लिए ईवा अस्पताल अपने आईवीएफ माहिरों पर गर्व मेहसूस करता है भारत में सबसे सर्वश्रेष्ट आईवीएफ उपचार के लिए संपर्क करें |

सफल आईवीएफ उपचार

शिखर की आईवीएफतकनीकें

शिक्षित एवं पेशेवरकर्मचारी

Call Now For Consultation +91-92449-00001

Call Now For Consultationivf@evahospital.in

(C) Copyright 2017 - EVA Hospitals All rights reserved.