फॉलोपियन टियूब में रुकावट

फैलोपियन टियूब महिला प्रजनन प्रणाली का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है | बहुत से महिलाएं इतनी गहराई में इसके बारे में नहीं जानती , बल्कि उन्हें तो सिर्फ गर्भशय के बारे में हे जानकारी होती है | जायदातर महिलों का मानना होता है की सिर्फ गर्भशाये हे गर्भधारण के लिए अनिवार्य होता है जबकि वास्तविकता में फॉलोपियन टियूब जो की अंडकोष और गर्भशय के बीच में दोनों को जोड़ने का काम करती है | यह भी महिला प्रजनन किर्या का एक जरूरी अंग है और सबसे बड़ी बात यह है की महिलों के बाँझपन के रोग का मूल कारन यही है |

फॉलोपियन टियूब -

हर महिला में दो फॉलोपियन टियूब होती है जो अंडाशय के दोनों तरफ होती है | यह दोनों किसी संकरी नली की तरह होती हैं | हर महीने जब अंडाशय से अंडे रिलीज़ होते है , तब इन अंडो को इन फॉलोपियन टियूब में भेजा जाता है | इसी समय अगर कोई महिला असुरक्षित यौन सम्बन्ध बनाती है , तो वह गर्भवती हो सकती है |

अगर इन नलिकों ने कोई रुकावट हो तो अंडा और शक्राणु मिल नहीं पाते, जिसे बाँझपन की स्थिति कहा जाता है | इस नलिका में रुकावट आने को हे फॉलोपियन टियूब का बंद होना कहा जाता है | हालाँकि प्रजनन विशेषज्ञों का कहना है की अगर किसी महिला का एक टियूब बंद है और एक सही काम रहा है तो भी महिला गर्भवती बन सकती है | अगर दोनों टियूब सामान्य काम कर रहे हैं तो भी गर्भधारण में कोई मुश्किल नहीं होती |

फॉलोपियन टियूब के रुकावट के कारन -

फॉलोपियन टियूब के बंद होने के सामान्य कई सारे तर्क हो सकते है| किसी घाव की वजह से , किसी श्रोणि चिपकाव की वजह से या फिर किसी संक्रमण की वजह से | यह दवाब या चिपकाव जायदातर किसी पिछली शल्य-चिकत्सा के कारन हो सकते है जो की अंदुरनी अंगों के हिलने जुलने , या एक साथ जुड़ने से होता है |

– श्रोणि सूजन की बीमारी-
श्रोणि सूजन की बीमारी फॉलोपियन टियूब को बहुत जायदा प्रभावित कर सकती है और नली में सूजन आती है | जिस वजह से टियूब में रुकावट या टियूब बंद भी हो सकती है | यह जायदातर तब होता है जब घाव बहुत ही गंभीर हो | इसके इलावा कई बार फॉलोपियन टियूब के कोई तरल पदार्थ भी भर जाता है |

– पिछली अस्थानिक गर्भावस्था
अगर गर्भधारण सही से नहीं हो पाता तो वह तत्व गर्भशय से बहार निकल दिए जाते है जो की की फॉलोपियन टियूब के जलन का कारन बनाते हैं |

– पेट की सर्जरी
किसी भी प्रकार की पेट की बीमारी में की गए सर्जेरी फेलोपियान ट्यूबों में नुकसान पहुंचा सकती है |

फॉलोपियन टियूब ने रुकावट के लक्षण -

फॉलोपियन टियूब रुकावट के कोई लक्षण सामान्य नहीं दिखते , लेकिन फिर भी कुछ मूल कारण है जिनकी वजह से पता चल जाता है की नली बंद है |

– पेडू में दर्द
– दर्दनाक माहवारी
– भारी रक्तसाव

फॉलोपियन टियूब की रुकावट का उपचार -

फॉलोपियन टियूब की रुकावट का उपचार करने के लिए सबसे पहले , प्रजनन विशेषज्ञ बहुत से परीक्षाओं का संचालन करते हुए यह सुनिश्चित करते है की वाकई ही मरीज की फॉलोपियन टियूब बंद हैं | क्या वाकई में मरीज की बांझपन की समस्या का असली कारण यही है या कुछ और भी है |

उसके बाद एक्स-रे के माध्यम से और आपके गर्भशय के रस्ते से चित्सक आपके फॉलोपियन टियूब को देख सकता है |

लेरोस्कोपी एक तकनीक है जिससे आपका चिकत्सक आपकी फॉलोपियन टियूब में दे और दवाई भेज सकता है , जिससे यह ठीक हो जायेगा |

शल्य-चिकत्सा में आपके फॉलोपियन टियूब कि मुरमत करने , घाव और दवाब को ठीक करने के लिए , क्षतिग्रस्त भाग को हाय जा सकता है | इस तरह का उपचार बहरत मने काफी महंगा है |

फैलोपियन टीयूबों में रुकावट के साथ गर्भधारण -

जितना जल्दी आपकी फॉलोपियन टियूब ठीक होंगी और उनमसे रुकावट खतम होगी , उतनी जल्दी आप गर्भधारण के लिए तैयार हो सकते हो | सर्जेरी के माध्यम से आपकी बच्चा पाने कि सम्भावना बाद सकती है | अगर यह सफल नहीं होता तो एआरटी और आईवीऍफ़ जैसी तकनीकों से जैविक बच्चा प्राप्त किया जा सकता है |

सफल आईवीएफ उपचार

शिखर की आईवीएफतकनीकें

शिक्षित एवं पेशेवरकर्मचारी

Call Now For Consultation +91-92449-00001

Call Now For Consultationivf@evahospital.in

(C) Copyright 2017 - EVA Hospitals All rights reserved.